टर्म इंश्योरेंस क्या होता है?-What is Term Insurance in Hindi?

प्राय: एक साधारण परिवार अपनी दिन प्रतिदिन की आवश्यकताओं अर्थात रोटी, कपड़ा और मकान के लिए परिवार के कर्ता को निरंतर प्राप्त होने वाली इनकम(Income) पर निर्भर होता है। जब तक कर्ता जीवित हैं, उसकी इनकम भी जीवित है, परिवार की आवश्यकताएं भी पूरी होती है। कर्ता की अचानक मृत्यु या डेथ(Death) हो जाए तो परिवार को आर्थिक कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है।

कितने ही परिवारों की दशा ऐसे समय में बड़ी दयनीय हो जाती है। जीवन का अंत कब होगा यह निश्चित नहीं है। यह अनिश्चितता ही वह रिस्क(Risk) है जो कर्ता की मृत्यु या डेथ(Death) से होने वाली आर्थिक नुकसान की पूर्ति के लिए किसी प्रकार के सिक्योरिटी की आवश्यकता को जन्म देती है। बीमा(Bima) या इंश्योरेंस(Insurance) वह साधन है, जो रिस्क(Risk) को समाप्त करता है और जीवन में आने वाली अनसर्टेनिटी को काफी कम कर देता है।

आज जीवन में रिस्क बड़ा हो गया है, कब, कहां और क्या हो जाए, किसे मालूम? अगर हमें कुछ हो गया तो हमारे आश्रितों (परिवार सदस्यो) का क्या होगा ? क्या कभी आपने सोचा है?

क्या कोई ऐसा है, जो हमारे बाद हमारे परिवार को सहारा दे सके ?

जीवन बीमा या लाइफ इंश्योरेंस(Life Insurances) ही एकमात्र ऐसा जरिया है, जो हमारे बाद हमारे परिवार को कुछ हद तक सहारा या आर्थिक मदद प्रदान कर सकता है।

इसके लिए जीवन बीमा या लाइफ इंश्योरेंस के प्रमुख प्लान है :-

आइए इस आर्टिकल के माध्यम से जानते है की टर्म इंश्योरेंस क्या होता है? Term Insurance kya hai.?

टर्म इंश्योरेंस क्या है ?-Term Insurance Kya Hai?- What is Term Insurance in Hindi?

term-insurance

टर्म इंश्योरेंस(Term Insurance) वास्तव में बेसिक(Basic) इंश्योरेंस(Insurance) है। यह सबसे सरल और बुनियादी प्रकार की जीवन योजना है।

इस इंश्योरेंस प्लान(Insurance Plan) में इंश्योरेंस(Insurance) करने वाली कंपनी और जिस व्यक्ति का इंश्योरेंस किया जाता है दोनों के बीच कॉन्ट्रैक्ट होता है। इस कॉन्ट्रैक्ट के अनुसार जीवन के रिस्क को कवर करने के लिए व्यक्ति की ओर से कंपनी को एक निश्चित धनराशि यानी कि प्रीमियम(Premium) का भुगतान किया जाएगा और इंश्योरेंस टैन्योर के दौरान व्यक्ति की मृत्यु होने पर उसकी ओर से नॉमिनी लोगों को निश्चित धनराशि या सम एश्योर्ड की राशि मिलेगी।

टर्म इंश्योरेंस में केवल रिस्क का प्रबंधन है, इसलिए यह सबसे सस्ती दर पर प्रोटेक्शन प्रदान करता है।

बीमा या इंश्योरेंस का प्रचलन किसी भी परिवार या व्यक्ति को सुरक्षा प्रदान करने के उद्देश्य से हुआ था, और आज भी बीमा का उद्देश्य आपके परिवार की वित्तीय सुरक्षा को सुनिश्चित करना ही है।

दरअसल टर्म इंश्योरेंस(Term Insurance) प्लान्स प्राप्त धन से आपका परिवार आपकी अनुपस्थिति में सम्मान के साथ अपना जीवन उसी रहन-सहन के स्तर पर बिता सकता है।

टर्म इंश्योरेंस(Term Insurance) प्लान के तहत बहुत कम प्रीमियम(Premium) पर हाई इंश्योरेंस(High Insurance) कवरेज लिया जा सकता है।

शुद्ध जीवन बीमा

इस दुनिया में दो ही चीजे है जो निश्चित है। वे है :-

  • मृत्यु या डेथ(Death), और
  • टैक्स(Tax)

इसलिए टर्म इंश्योरेंस(Term Insurance) शुद्ध लाइफ इंश्योरेंस है जो पूरे जीवन के लिए उपलब्ध होता है।

एक निश्चित समय के बाद तो आपके पास इतना धन हो ही जाता है की दुर्भाग्यपूर्ण स्थिति में भी आपका परिवार अपना जीवन व्यतीत कर सकता है।

सर्वे भवंतु सुखिनः की अवधारणा

टर्म लाइफ इंश्योरेंस(Term Life Insurance) प्लान सर्वे भवंतु सुखिनः की अवधारणा पर आधारित है।

लेकिन कंपटीशन और प्रॉफिटेबिलिटी के चलते हुए इंश्योरेंस कंपनियां (Insurance Companies) कस्टमर (Customer) से पहले अपने फायदे को देखती है। यही कारण है कि कई इंश्योरेंस एजेंट्स टर्म इंश्योरेंस (Term Insurance) प्लान को इन्वेस्टर(Investors) की नजर से बचा कर रखते हैं । वे हमेशा ऐसे प्लान को प्राथमिकता देते हैं जिसमें उनका कमीशन ज्यादा हो।

यही कारण है कि इंश्योरेंस कंपनियों की कुल सेल में टर्म इंश्योरेंस(Term Insurance) का हिस्सा मात्र 5% से 7% ही होता है।

सस्ता प्रीमियम वाला प्लान

टर्म इंश्योरेंस प्लान वास्तव में इंश्योरेंस का शुद्ध रूप होता है, इसलिए प्रीमियम काफी सस्ते होते हैं। आईआरडीएआई (IRDAI) ने टर्म इंश्योरेंस प्लान को लोकप्रिय बनाने का अभियान भी चलाया हुआ है।

टर्म इंश्योरेंस(Term Insurance) प्लान के प्रीमियम अभी और भी कम होंगे क्योंकि, एक तो मेडिकल सुविधाएं बढ़ी है और दूसरे लोगों की एवरेज आयु भी बड़ी है।

धारणा को बदलें

भारतीयों की गहरी धारणा है कि हमें मैच्योरिटी पर कुछ ना कुछ वापस मिलना चाहिए। जीवन के अंतिम सत्य मृत्यु के विषय में तो कोई सोचता ही नहीं है, बस इतना कह देते हैं की मौत आए दुश्मनों को

वास्तव में देखा जाए तो लाइफ इंश्योरेंस या जीवन बीमा मृत्युपर्यन्त लाभ के लिए होता है, लेकिन लोग इसे खरीदते हैं जीवनपूर्व लाभ के लिए।

इसलिए लोगों को अपनी सोच में बदलाव लाना होगा और कंपनियों को भी इन्वेस्टर्स के फायदे पहले सोचना होगा क्योंकि इन्वेस्टर्स के फायदा नहीं ही उनका फायदा है।

कितना इन्वेस्ट करें

टर्म इंश्योरेंस(Term Insurance) प्लान, वार्षिक इनकम का 15% होना ही चाहिए।

भगवान ना करें की बीमित(Insured) व्यक्ति, इस दुनिया में न रहे तो उसके द्वारा नॉमिनेट व्यक्ति पॉलिसी से मिलने वाली धनराशि को निश्चित मंथली इनकम वाली किसी प्लान में इन्वेस्ट करके अपने जीवन को उज्जवल बनाने का प्रयास कर सकता है।

एज लिमिट और इनक्रीज कवर

टर्म इंश्योरेंस(Term Insurance) को कम आयु में खरीदना ही बेहतर होता है क्योंकि एज(Age) बढ़ने के साथ-साथ टर्म इंश्योरेन्स (Term Insurance) कवर का प्रीमियम भी बढ़ता जाता है।

50 साल से ज्यादा उम्र हो जाने पर टर्म लाइफ इंश्योरेंस(Term Life Insurance) का प्रीमियम ज्यादा होता है।

सारांश

Term Insurance बेसिक जीवन बीमा पॉलिसी(Life insurance policy) है, जो जीवन की सुरक्षा का कवर देती हैं। कई बार लोग टर्म प्लान को इसलिए टालते हैं क्योंकि, वो इसे खर्च समझते हैं।

जल्दी Term Insurance खरीदने में ही समझदारी हैं। कम उम्र वालों का प्रीमियम कम होता है। एकबार जो प्रीमियम तय हो गया वो हमेशा फिक्स रहता है। इसलिए जितनी जल्दी टर्म इंश्योरेंस (Term Insurance) खरीदा जाए उतना फायदेमंद रहता है।

उम्मीद करते है की आपको यह आर्टिकल टर्म इंश्योरेंस क्या होता है?-Term Insurance kya hai पसंद आया होगा। यदि आपको इस आर्टिकल से रिलेटेड कोई सवाल या सुझाव है तो कमेंट कर सकते है।

Leave a Comment